कांग्रेस में बड़े बदलाव की तैयारी

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने नई जिम्मेदारी मिलने के बाद एक बार फिर बीजेपी पर हमला किया है. अध्यक्ष बनने के बाद पहले बार नेशनल हेराल्ड को दिए एक इंटरव्यू में राहुल ने कहा कि बीजेपी ने समाज को बांटने का काम किया है. कांग्रेस की विचारधारा समाज को जोड़ेगी.इंटरव्यू में राहुल संगठन में बड़े पैमाने पर बदलाव की ओर भी इशारा किया. राहुल ने कहा कि कांग्रेस में परिवर्तन होंगे. राहुल के इस बयान से साफ जाहिर है कि कांग्रेस संगठन में बदलाव होंगे. यानि राहुल अब अपनी टीम तैयार करेंगे. राहुल ने कहा कि कांग्रेस की विचारधारा समाज को जोड़ेगी. बीजेपी ने देश को बांटने का काम किया है. लोगों में नफरत भरने की कोशिश की है. लेकिन देश के लोगों को नफरत पर भरोसा नहीं है. राहुल ने कहा कि कांग्रेस लोगों में प्यार भरेगी. कांग्रेस जनता के लिए पुल का काम करेगी.

कांग्रेस समाज के हर तबके के लोगों को साथ लेकर चल रही है. समाज के अलग-अलग तबके से आने वाले अल्पेश, जिग्नेश और हार्दिक पटेल जैसे नेता कांग्रेस के साथ हैं. राहुल ने कहा कि कांग्रेस के पास कई प्रतिभावान चेहरे हैं. हम सभी को मौका देंगे. राहुल ने कहा कि बदलाव सिर्फ मैं नहीं, बल्कि कांग्रेस पार्टी भी चाहती है. राहुल ने कहा कि पार्टी चाहती है कि इसमें बदलाव हो. मैं ऐसे लोगों के साथ जुड़ना चाहता हूं जो सौम्य होने के साथ-साथ मजबूत भी हों. राहुल ने सरदार पटेल और नेहरू के संबंधों पर कहा कि यह झूठ फैलाया जा रहा है कि दोनों नेताओं में नहीं बनती थी. राहुल ने कहा कि दोनों अच्छे दोस्त थे. उनके बारे में दुष्प्रचार किया जा रहा है.

राहुल गांधी ने एक सवाल के जवाब में मोदी सरकार की कैबिनेट और मनमोहन सरकार की कैबिनेट के बारे में कहा. राहुल ने कहा कि दोनों सरकारों की कैबिनेट में तुलना ही नहीं हो सकती. मनमोहन जी की मोदी जी से तुलना हो या फिर चिदंबरम जी से अरुण जेटली जी की तुलना, मोदी सरकार कहीं नहीं ठहरती. राहुल ने सवाल किया कि मोदी सरकार में क्या कोई मंत्री है जो प्रणब दा के बराबर है? राहुल ने कहा कि इसी के चलते इस सरकार के पास कोई नीति नहीं है. राहुल ने मोदी सरकार के नोटबंदी और जीएसटी जैसे फैसलों का भी विरोध किया. शनिवार को राहुल ने कांग्रेस मुख्यालय में औपचारिक तौर पर पार्टी अध्यक्ष का पद संभाला. कांग्रेस अध्यक्ष बनने के बाद राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा कि कांग्रेस पार्टी लोगों के बीच संवाद का माध्यम का बनें. राहुल ने ट्वीट कर कहा, 'मैं चाहता हूं कि कांग्रेस पार्टी भारत के लोगों, हमारे महान देश के सभी कोनों, सभी धर्मों, सभी जातियों, सभी उम्र और लिंग के बीच संवाद के लिए एक माध्यम बनें. उन्होंने कहा कि प्यार और स्नेह के नेतृत्व में हमारी बातचीत हो.'

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *