अशोक चौधरी बाहर, जदयू में जाने की चर्चा

-पार्टी तोड़ते-तोड़ते खुद ही टूट गये पूर्व बीपीसीसी प्रमुख

बिहार कांग्रेस में चल रही उठापटक की गाज आखिरकार अशोक चौधरी पर गिर ही गई। कांग्रेस विधायकों को तोड़ने के कथित आरोपों के चलते कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने अशोक चौधरी को बिहार कांग्रेस अध्यक्ष पद से बाहर का रास्ता दिखा दिया है। उन पर पार्टी में फूट डालने के आरोप लग रहे थे, एक टीवी चेंनल को दिए इंटरव्यू में उन्होंने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर भी इशारों-इशारों में हमला किया था। स्वाभाविक है कि इस दुह्साह्स के बाद उनको विदाई गीत सुनना ही था। कांग्रेस आलाकमान ने मंगलवार को ये फैसला ले लिया। इनकी जगह प्रदेश अध्यक्ष कौकब कादरी कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष बनाये गए हैं। कादरी ने अपने बयां में कहा है कि बिहार कांग्रेस मजबूत है और किसी के जाने या रहने से संगठन में कोई फर्क नहीं पड़ता।

कांग्रेस महासचिव जनार्दन द्विवेदी ने आधिकारिक तौर पर यह जानकारी दी। उन्होंने कहा , 'कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने अशोक चौधरी को बिहार प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद से तुरंत प्रभाव से हटा दिया है'। साथ ही सभी कमेटियों को भंग कर दिया गया है। कांग्रेस की ओर से यह कदम इन खबरों के बीच आया है कि पार्टी की राज्य इकाई में दो फाड़ हो सकतेहैं जिसमें से एक धड़े की अगुवाई चौधरी कर सकते हैं।

अध्यक्ष पद से हटाये जाने पर अशोक चौधरी ने कहा कि हम पार्टी के निर्णय का स्वागत करते हैं, लेकिन जिस तरह से अपमानित करके उन्हें निकाला गया, वह नहीं होना चाहिए था। अशोक चौधरी ने कहा कि वो अभी पार्टी छोड़ने नहीं जा रहे हैं, लेकिन जैसा बर्ताव उनके साथ हुआ है, वो किसी भी कांग्रेसी को मंजूर नहीं है।

अशोक चौधरी ने हाल ही में आरोप लगाया था कि एक ग्रुप पार्टी की बिहार इकाई में बगावत को हवा देने के लिए उनका नाम लेकर उनकी छवि खराब कर रहा है। चौधरी ने आरोप लगाया था कि केंद्रीय कांग्रेस के कुछ नेताओं की वजह से बिहार कांग्रेस में अस्थिरता की स्थिति है और कुछ नेता उन्हें जबरन पद से हटाने की साजिश रच रहे हैं।

बता दें कि ये भी जानकारी सामने आ रही थी कि कांग्रेस के 27 विधायकों में से 18 विधायक पार्टी छोड़कर जेडीयू में शामिल होने के लिए तैयार बैठे हैं। विधायकों को जेडीयू में ले जाने के आरोप अशोक चौधरी पर ही लग रहे थे। जिसके बाद अशोक चौधरी समेत बिहार कांग्रेस के दूसरे नेताओं को पार्टी हाई कमान ने दिल्ली तलब किया था।

अशोक चौधरी को हटाए जाने के बाद फिलहाल बिहार कांग्रेस अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी कौकब कादरी को दी गई है। कौकब प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष हैं। नए अध्यक्ष के नाम का ऐलान होने तक कौकब प्रदेश कांग्रेस कमेटी की जिम्मेदारी संभालेंगे। प्रदेश अध्यक्ष पद के लिए किसी नाम का ऐलान अभी तक नहीं किया है। दशहरे के बाद नए प्रदेश अध्यक्ष के नाम की घोषणा होगी।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *