नरेंद्र मोदी पर भारी पड़ रहे अमित शाहः अरूण शौरी

बीजेपी में वर्तमान नरेंद्र मोदी नेतृत्व द्वारा हाशिए पर धकेल दिए गए नेता लोकसभा चुनाव की आहट सुनते हुए अपनी रणनीति बनाने में जुट गए हैं। भले ही बीजेपी आलाकमान उन्हें अहमियत नहीं दे रहा हो लेकिन विपक्ष ने इन नेताओं को एक साथ और एक मंच पर लाने की कोशिश शुरू कर दी है। बीजेपी नेता शत्रुघ्न सिन्हा, यशवन्त सिन्हा और अरुण शौरी ने तृणमूल प्रमुख ममता बनर्जी से मुलाकात की। इस मुलाकात में साफतौर पर जो चर्चा का विषय था उसके निशाने पर मोदी सरकार ही थी। अरुण शौरी ने तो बीजेपी सरकार के खिलाफ खूब भड़ास निकाली। मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए अरुण शौरी ने कहा, “सरकार का नियंत्रण पीएम मोदी के हाथ से फिसलकर अमित शाह के हाथ में जा रहा है और अगर ऐसा हुआ तो देश को इसकी बड़ी कीमत चुकानी होगी।”

वहीं जब उनसे पूछा गया कि क्या कांग्रेस एक संघीय मोर्चे का समर्थन करेगी, तो अरुण शौरी ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि कांग्रेस को अहसास होगा कि सभी की भलाई के लिए साथ आना जरूरी है। अरुण शौरी ने संघीय मोर्चे की जरूरत पर कहा, “अगर यह मोमेंटम नहीं तोड़ा गया तो इसके बाद देश में कांग्रेस समेत कोई अन्य पार्टी नहीं बचेगी।” बातचीत के दौरान अरुण शौरी ने राहुल गांधी के बिहार में महागठबंधन में शामिल होने के फैसले की सराहना की। वहीं, त्रिपुरा में राहुल गांधी के ममता बनर्जी के साथ मिलकर लड़ने से इनकार करने की आलोचना भी की। शौरी ने बताया कि अगर वन-टू-वन फॉर्मूले को अपना लिया जाता है और संघीय मोर्चा बनता है तो विपक्षी पार्टियों को करीब 69 प्रतिशत वोट मिलेंगे, जो मोदी सरकार को मिले 31 प्रतिशत वोटों से कहीं ज्यादा हैं।

ममता बनर्जी से मुलाकात के दौरान अरुण शौरी, यशवन्त सिन्हा और शत्रुघ्न सिन्हा ने मोदी सरकार के खिलाफ सभी क्षेत्रीय पार्टियों को एकजुट करने के ममता बनर्जी के प्रयास की प्रशंसा भी की। दिल्ली में हुई इस मुलाकात के दौरान कई विपक्षी पार्टियों के नेताओं समेत भाजपा की कुछ सहयोगी पार्टियों के नेता भी मौजूद थे। इस मुलाकात के दौरान मीडिया से बात करते हुए शत्रुघ्न सिन्हा ने ममता बनर्जी की तारीफ करते हुए कहा कि हम देश के लिए उनके संघर्ष में उनके साथ हैं। देश किसी भी पार्टी से बड़ा है। यह सब पार्टी के विरुद्ध नहीं है, बल्कि देश हित में है। हम सब यहां ममता बनर्जी को समर्थन देशहित में देने आए हैं।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *