झारखंडी मूल्यों की रक्षा के लिए लोकसभा जाएगी आजसू : सुदेश

आजसू पार्टी के केंद्रीय अध्यक्ष सुदेश कुमार महतो ने कहा है कि लोकतंत्र का महापर्व सामने है। और इस महापर्व में शामिल होने के लिए आजस पार्टी का इरादा और मकसद अलग है। झारखंडी मूल्यों की रक्षा के लिए आजसू पार्टी लोकसभा चुनाव में अपना प्रतिनिधि भेजने के लिए तैयार है। और गिरिडीह से इसकी शुरुआत होगी।

बिनोदबिहारी महतो स्टेडियम नवाडीह में गिरिडीह संसदीय क्षेत्र के 2160 बूथ के कार्यकर्ता सम्मेलन को वे संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि आजसू पार्टी के लिए झारखंड के सवाल और विषय सर्वोपरि है। इन्हीं सवालों और  विषयों को लोकसभा में उठाने के लिए पार्टी ने लोकसभा चुनाव लड़ने की तैयारी में है। आजसू पार्टी की प्राथमिकता में गिरिडीह उसके बाद हजारीबाग और रांची की सीट है।

उन्होंने कहा कि आजसू पार्टी ने मूल्यांकन किया है कि राष्ट्रीय परिप्रेक्ष्य की राजनीति में क्षेत्रीय सवालों को हाशिए पर छोड़ा जाता रहा है। उन्होंने कहा कि झारखंड आंदोलन के प्रणेता बिनोदबिहारी महतो की इस धरती से कार्यकर्ता तय करें कि इस खनन वाले क्षेत्र में हम और हमारा परिवार कहां खड़ा है। उन्होंने सवाल करते हुए कहा कि क्या गिरिडीह संसदीय क्षेत्र का युवा दिहाड़ी खटने के लिए परदेस जाता रहेगा। यहां के धरती पुत्र कब तक विस्थापन का दंश झेलते रहेंगे। वह दिन दूर नहीं जब इस इलाके के डेढ़ लाख विस्थापित परिवारों की आवाज आजसू का प्रतिनिधि लोकसभा में मजबूती से उठायेगा।

उन्होंने कहा कि जमीन का दर्द राष्ट्रीय मुद्दों पर राजनीति करन वाले महसूस नहीं कर सकते। कोलइंडिया का मुख्यालय आखिर झारखंड से बाहर क्यों है। झारखंड के लोग राष्ट्रीय राजनिती के नाम पर कब तक वोट देते रहेंगे। उन्होंने कहा कि 2160 बूथों के हजारों कार्यकर्ता यह संकल्प लेकर जाएं कि तीन मार्च 2019 के दिन से वे वोट के दिन तकचैन से नहीं बैठेंगे। यह जुटान और कोई मामूली नहीं है। इस जुटान में परिवर्तन की कहानी लिखने की तड़प है। आजसू के कार्यकर्ता किसी भी चुनावी बिसात को बदलने की ताकत रखते हैं।

उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव हमारे लिए झारखंडी हितों की रक्षा करने का मौका है। हम अपनी जिम्मेदारी और जनता के प्रति जवाबदेही को अच्छी तरह से जानते हैं। आजसू ने उसूलों की राजनीति की है। इसलिए इस चुनाव में दमदारी के साथ मोर्चा संभालेगी।

महागठबंधन नहीं ठगबंधन हो रहाः चंद्रप्रकाश चौधरी
कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करते हुए आजसू पार्टी के वरिष्ठ विधायक और सरकार के मंत्री चंद्रप्रकाश चौधरी ने कहा कि गिरिडीह संसदीय क्षेत्र के कार्यकर्ताओं की भावना को देखते हुए पार्टी ने इस सीट से चुनाव लड़ने का फैसला लिया है। गिरिडीह में आजसू जनता के साथ गठबंधन करेगी और चुनाव भी जीतेगी। उन्होंने कहा कि झारखंड में विपक्ष का महागठबंधन नहीं ठगबंधन हो रहा है। विकास विरोधी लोग आपस में हाथ मिला रहे हैं। गिरिडीह संसदीय क्षेत्र विकास को तरस रहा है। पलायन और रोजगार यहां की बड़ी समस्या है। यहां के युवा दूसरे देश में जाने को विवश हैं। यहां के जनप्रतिनिधियों ने इस क्षेत्र की अनदेखी की है। तभी तो कई फैक्ट्रियां बंद हैं। आजसू पार्टी का प्रतिनिधि जब इस क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करते हुए लोकसभा जाएगा, तो बदलाव करके दिखायेगा। उन्होंने विरोधी दलों को चुनौती देते हुए कहा कि अगर हम किसी योजना का शिलान्यास करते हैं, तो उसका उदघाटन भी करते हैं। इसलिए विपक्षी दल किसी गलतफहमी में नहीं रहें। श्री चौधरी ने यह भी कहा कि गिरिडीह संसदीय क्षेत्र की इस इलाके के जनप्रतिनिधियों ने अनदेखी की है। चुनाव के समय वही लोग सक्रिय हो गए हैं। लेकिन आजसलू पार्टी वोट नहीं विकास की राजनीति करती है।

गिरिडीह में बदलाव की जरूरतः राजकिशोर महतो
सम्मेलन में टुंडी के आजसू विधायक राजकिशोर महतो ने कहा कि गिरिडीह में बदलाव की जरूरत है। आजसू पार्टी के कार्यकर्ताओं की गोलबंदी लड़ाई जीतने के लिए असरदार साबित होगी। गिरिडीह संसदीय क्षेत्र में किसी भी पार्टी का वर्चस्व नहीं रहा है, लेकिन दूसरे दल यह दावा करते रहे हैं कि वही सबसे मजबूत है। आजसू ने हमेशा जमीनी सवालों पर संघर्ष किया है। जमीन से जुड़े कार्यकर्ता और नेता ही इस पार्टी की पहचान हैं। यह क्षेत्र झारखंड के आंदोलनकारियों का है, इसलिए आंदोलन की उपज आजसू पार्टी का ही इस बार गिरिडीह संसदीय क्षेत्र में परचम लहरायेगा।



विकास की राजनीति का साथ देः डॉ लंबोदर महतो
सम्मेलन को संबोधित करते हुए पार्टी के केंद्रीय महासचिव डॉ लंबोदर महतो ने कार्यकर्ताओं से आह्वान किया कि पार्टी की रणनीति को सफल बनाने के लिए संकल्प लें। साथ ही विकास की राजनीति का साथ दें। आजसू पार्टी ने हमेशा झारखंड के हितों को देखा है। गिरिडीह संसदीय क्षेत्र की जनता उम्मीदों के साथ हमारी ओर देख रही है। इसलिए कि आजसू पार्टी धर्म और बंटवारे की राजनीति नहीं करती। आजसू पार्टी के लिए झारखंडी सवाल ही सर्वोपिर हैं। इस बार आजसू पार्टी लोकसभा चुनाव में जरूर अपना प्रतिनिधि भेजेगी।
सम्मेलन को आजसू पार्टी के केंद्रीय प्रवक्ता डॉ देवशरण भगत, यशोदा देवी, टिकैत महतो, नजरूल हसन हाशमी, मंटू महतो, संतोष महतो भी संबोधित किया।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *