उपचुनावः प्रत्याशियों पर होगी प्रशासन की नजर

सिल्ली उपचुनाव को लेकर प्रशासन का चुनावी प्रचार-प्रसार और प्रत्याशियों की गतिविधियों पर विशेष नजर होगी। चुनाव चिह्न मिलते ही चुनाव प्रचार को लेकर कई दिशा-निर्देश भी दिए गए हैं। कोई भी राजनीतिक दल या प्रत्याशी यदि किसी स्थान पर सभा का आयोजन कर रहा हो या जुलूस निकाल रहा हो तो उसे इस बात का पूरा ख्याल रखना होगा कि यातायात किसी भी सूरत में प्रभावित न हो। यदि ऐसा होता है तो वह आचार संहिता के दायरे में आएगा और उस पर कानूनी कार्रवाई की जा सकती है।

प्रत्याशियों को आदर्श आचार संहिता का विशेष ख्याल रखना होगा। इस दौरान प्रत्याशियों द्वारा किए जाने वाले किसी प्रकार के सभा या जुलूस के लिए प्रत्याशियों को विशेष ध्यान रखने की आवश्यकता होगी।

प्रत्याशियों को यदि सभा या जुलूस के दौरान लाउडस्पीकरों का प्रयोग करना हो तो इसके लिए उम्मीदवार को पूर्व से ही आवेदन करना होगा और इसके लिए अनुमति प्राप्त कर लेनी होगी। यह भी निर्देश दिया गया है कि किसी भी जुलूस या सभा में यदि किसी प्रकार का कोई भी बाधा डाला जाता है तो इसकी तुरंत सूचना मौके पर मौजूद पुलिस कर्मियों व स्थानीय प्रशासन को दें। जुलूस के दौरान यातायात में कोई रुकावट या बाधा उत्पन्न ना हो इसका विशेष खयाल रखना पड़ेगा।

आयोग द्वारा यह निर्देश दिया गया है कि यदि एक ही वक्त में एक ही रोड पर दो या दो से अधिक राजनीतिक दल या उम्मीदवारों द्वारा जुलूस निकालने की योजना है तो उनके समय को इस तरह व्यवस्थित करें कि जुलूस का आपस में कहीं भी टकराव ना हो इसके लिए पूरी तरह से स्थानीय पुलिस की सहायता ली जा सकेगी। इस बाबत आयोग द्वारा प्रत्याशियों के लिए सभा या जुलूस से संबंधित विशेष आदेश भी जारी किए गए हैं।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *