27% आरक्षण के लिए आंदोलन तेज करेगा मोर्चाः महेश्वर साहू

झारखंड वैश्य संघर्ष मोर्चा के केंद्रीय अध्यक्ष महेश्वर साहू ने कहा कि पिछड़ों के 27% आरक्षण की मांग के लिए आंदोलन तेज किया जाएगा। उन्होंने कहा कि इसके साथ ही कई और मुद्दे हैं जिसके लिए समाज संघर्ष करने का निर्णय लिया है। इनमें वैश्य आयोग का गठन, बिजली विभाग की मनमानी और व्यवसायियों की परेशानी आदि शामिल हैं जिनको लेकर पूरे प्रदेश में जोरदार आंदोलन चलाया जायेगा। जिसके तहत आगामी 12 जून को हजारीबाग में तथा 18 जून को मेदिनीनगर में प्रमंडलीय स्तर पर प्रदर्शन व महाधरना कार्यक्रम का आयोजन किया जायेगा और मुख्यमंत्री के नाम आयुक्त को स्मार-पत्र सौंपा जायेगा।
जबकि 1 जुलाई से 3 जुलाई तक राजभवन के समक्ष तीन दिवसीय महाधरना कार्यक्रम का आयोजन किया जायेगा। इसके बाद भी सरकार अगर मोर्चा की मांगों पर पहल नहीं करती है तो क्रांति दिवस के अवसर पर 9 अगस्त को राज्य के सभी जिलों में वैश्य क्रांति सम्मेलन का आयोजन कर सरकार के खिलाफ आर-पार की लड़ाई की घोषणा की जायेगी।
उन्होंने कहा कि बैठक में प्रस्ताव पारित कर कहा गया कि वैश्य समाज अब राजनीति में भागीदारी और दावेदारी के लिए पूरे प्रदेश में जागरूकता अभियान चलायेगी और बुद्धिजीवियों तथा पढ़े-लिखे नौजावनों से भी राजनीति के क्षेत्र में उतरने का आह्वान करेगी, ताकि आने वाली पीढ़ी को उनका वाजिब हक-अधिकार दिलाया जा सके। इस दौरान तय किया गया कि गोमिया एवं सिल्ली में उसी दल या उम्मीदवार को समर्थन किया जायेगा जो वैश्य मोर्चा के मुद्दों, जैसे पिछड़ों को 27% आरक्षण देने, वैश्य आयोग का गठन, शेष बचे 13 वैश्य उपजातियों को पुनः राष्ट्रीय ओबीसी सूची में शामिल करवाने, शून्य जिलों में एक समान आरक्षण की व्यवस्था लागू करने आदि को स्वीकार करेगा।
बता दें कि आज रजरप्पा में झारखंड वैश्य संघर्ष मोर्चा, केंद्रीय समिति की एक विस्तारित बैठक हुई। इस बैठक में पूरे प्रदेश से वैश्य मोर्चा के पदाधिकारी और सदस्य शामिल हुए। बैठक में मुख्य अतिथि के तौर पर मोर्चा के मुख्य संरक्षक गोपाल प्रसाद साहू उपस्थित थे। केंद्रीय समिति की बैठक में कई मुद्दों पर विस्तार से चर्चा की गई और कई महत्वपूर्ण निर्णय लिये गए। तत्पश्चात बैठक में सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित कर समाज के विभिन्न मांगों को लेकर आगे की रणनीति बनाई गई।

इस मौके पर संगठन विस्तार के तहत कई लोगों को केंद्रीय समिति में बतौर सदस्य शामिल किया गया, इनमें सुरेश प्रसाद (गिरिडीह), डॉ आर. एन. प्रसाद (भुरकुंडा), सुमंत साह (केरेडारी)।
इस मौके पर मोर्चा के तमाम पदाधिकारियों व सदस्यों के द्वारा एक संकल्प पत्र पढ़ा गया और कहा गया कि संगठन में बड़ी ताकत होती है। जब से वैश्य मोर्चा का गठन किया गया है, मोर्चा ने कई उपलब्धियां हासिल की हैं और वैश्य समाज को लाभ दिलाया है। अगर वैश्य समाज के लोग इसी तरह संगठित होकर रहें और अपने मुद्दों को लेकर संघर्ष करते रहें तो आगे भी इसका लाभ मिलेगा। संकल्प में कहा गया कि झारखंड में पिछड़ों का आरक्षण कम कर देना, उनके अधिकारों को छीनना है। इससे लाखों छात्रों एवं बेरोजगारों को नुकसान हो रहा है। सरकार को चाहिए कि तत्काल पिछड़ों को 27% आरक्षण की व्यवस्था कर दे, अन्यथा सड़क पर उतर कर आंदोलन का ही एकमात्र रास्ता बचता है। हमें आंदोलन के लिए सरकार मजबूर न करे।
इस मौके पर कार्यकारी अध्यक्ष पंचानन साहू, उप-प्रधान महासचिव राजीव राज, गुलाब प्रसाद साहू, केंद्रीय महासचिव विरेंद्र कुमार, संगठन सचिव संजीव जायसवाल, शिवपूजन प्र. साहू, हीरा साहू, उपेंद्र प्रसाद साहू, रामजी प्रसाद, रांची जिला अध्यक्ष अशोक गुप्ता, महानगर अध्यक्ष कपिल प्रसाद साहू, शिव प्रसाद साहू, युवा मोर्चा कार्यकारी अध्यक्ष पवन सोनी, हलधर साहू उपस्थित थे।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *