हेमंत सोरेन ने झारखण्ड के बालू को बेचने का काम किया : रघुवर दास

वर्षों तक आपने झारखंड मुक्ति मोर्चा को अपने क्षेत्र के विकास हेतु दायित्व सौंपा। लेकिन उसका परिणाम क्या आया। यह सब आप अनुभव कर रहे होंगे। झारखंड के विकास, आदिवासियों का हित और गरीबों का हितैषी बताने वाला झारखंड मुक्ति मोर्चा ने कुछ नहीं किया। जेएमएम ने तो आदिवासियों की संस्कृति को अक्षुण्ण रखने का भी काम नहीं किया। हां यह जरूर है जेएमएम के हेमंत सोरेन ने झारखंड की नदियों का बालू को बेचकर और सीएनटी/एसपीटी एक्ट का उल्लंघन कर आदिवासियों की जमीन छीन कर खुद जमींदार बनने का काम जरूर किया। कोल्हान की जनता खुद आकलन करें कि कौन उनका हितैषी है और कौन नहीं। कोल्हान को झारखंड मुक्ति मोर्चा से मुक्त करने का संकल्प लें, और क्षेत्र के विकास के मार्ग को प्रशस्त करें। क्योंकि आपको यह बताना है कि जो पार्टी विकास करेगा हमारा वोट उसी को। क्षणिक लाभ के लिए आप अपने विकास के मार्ग को अवरुद्ध ना करें। मतदान जरूर करें। विकास के लिए झारखंड की समृद्धि के लिए। ये बातें रघुवर दास ने चक्रधरपुर में आयोजित जनसभा में कही।

डबल इंजन की सरकार से उग्रवाद हुआ नियंत्रित, विकास की मिली गति
रघुवर दास ने कहा कि मजबूत व स्थिर सरकार की वजह से नीतियां बनती हैं, निर्णय लेने की क्षमता में इजाफा होता है और अफसर भी बेलगाम नहीं होते। लेकिन मिलीजुली सरकार से ना नीतियां बन पाती है ना निर्णय लिया जाता है और ना ही अफसरों पर नियंत्रण रहता है और नुकसान गरीबों आदिवासियों को होता है। विगत 5 साल में स्थिर सरकार की वजह से कई काम हुए हैं। डबल इंजन सरकार की वजह से ही 57 लाख परिवार को आयुष्मान भारत योजना का लाभ मिला, बिजली से वंचित 30 लाख घरों को रोशन किया गया, 40 लाख परिवार को गैस चूल्हा मिला, हर गरीब को आवास देने की प्रक्रिया प्रारंभ हुई, हर गांव शुद्ध पेयजल पहुंचाने का कार्य आरंभ हुआ, किसान की समृद्धि के लिए उन्हें आर्थिक सहायता प्रदान की गई, महिलाओं का सशक्तिकरण हुआ। मैं यह नहीं कहता कि झारखण्ड में पूरी तरह से विकास हो गया। अभी भी स्वास्थ्य व शिक्षा के क्षेत्र में हमें कई काम करने हैं। 5 वर्ष में इसे रफ्तार दिया गया है। डबल इंजन की सरकार की मदद से इसकी गति को आने वाले वर्षों में और भी बढ़ाना है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *