हरियाणा में भाजपा की सरकार को निर्दलीय विधायकों का समर्थन

 बीजेपी को हरियाणा में सिर्फ 40 सीटें मिली थीं और 6 सीटों की दरकार थी. शुक्रवार सुबह तक भारतीय जनता पार्टी को 5 निर्दलीय विधायकों ने समर्थन कर दिया है, जिसमें गोपाल कांडा भी शामिल हैं.इन पांच के अलावा दो अन्य विधायक जेपी नड्डा से मुलाकात करने पहुंचे हैं.इसके बाद दोपहर को दो और निर्दलीय विधायक सोमवीर सांगवान- दादरी  और  धर्मपाल गोंदर- नीलोखेड़ी  ने जेपी नड्डा और अनिल जैन से मुलाकात की. दोनों ही नेता भाजपा को समर्थन कर सकते हैं.खास बात यह है कि निर्दलीयों में 5 बीजेपी के बागी हैं.हरियाणा में स्पष्‍ट बहुमत नहीं मिलने के बाद भाजपा नेता मनोहरलाल खट्टर पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से मिलने और आगे की रणनीति पर चर्चा करने के लिए शुक्रवार सुबह दिल्ली के लिए रवाना हुए. राज्य विधानसभा चुनाव में किसी एक पार्टी को पूर्ण बहुमत नहीं मिला है, हालांकि भाजपा 40 सीटों के साथ सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है.

चुनाव नतीजे आने के बाद भारतीय जनता पार्टी अगली सरकार बनाने के लिए जरूरी बहुमत के आंकड़े से छह सीट पीछे रह गयी. चुनाव में कांग्रेस को 31 सीटों पर जीत मिली है, जबकि जननायक जनता पार्टी (जजपा) को 10 और इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो) और हरियाणा लोकहित पार्टी (एचएलपी) को एक-एक सीट मिली हैं. स्वतंत्र उम्मीदवारों ने सात सीटों पर जीत दर्ज की है.

हरियाणा में त्रिशंकु विधानसभा की तस्वीर आने के बाद कांग्रेस राजनीतिक हलचल पर पूरी नजर बनाए हुए है और फिलहाल अपने पत्ते नहीं खोल रही है. सूत्रों के मुताबिक पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा रोहतक से दिल्ली पहुंच गये हैं. उनकी शुक्रवार सुबह पार्टी के वरिष्ठ नेताओं अहमद पटेल और गुलाम नबी आजाद से मुलाकात हो सकती है. हुड्डा कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से भी मुलाकात करेंगे.

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *