विजय कुमार सिन्हा बने बिहार विधानसभा के स्पीकर

बिहार में भाजपा ने जातीय आधार पर राजनीति को अंजाम देते हुए सवर्णों को विधानसभा अध्यक्ष बनाया है.बुधवार को  विधानसभा अध्यक्ष के लिए हुए चुनाव में विजय सिन्हा को अध्यक्ष के लिए छु लिया गया.विपक्ष के भारी हंगामे के बीच बिहार विधानसभा को नया स्पीकर मिल गया है.  प्रोटेम स्‍पीकर जीतन राम मांझी ने विजय कुमार सिन्‍हा के बिहार विधान सभा के स्‍पीकर पद पर निर्वाचित होने की घोषणा की .

उनके सामने महागठबंधन ने आरजेडी विधायक अवध बिहारी सिंह को उतारा था. विजय सिन्हा के पक्ष में 126 वोट पड़े. नवनिर्वाचित अध्यक्ष विजय सिन्हा को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने ससम्‍मान आसन ग्रहण करवाया ।

बिहार विधानसभा के अध्यक्ष की कुर्सी संभालने वाले विजय सिन्हा पहले बीजेपी विधायक हैं. इससे पहले कभी भी बीजेपी के खाते में विधानसभा स्पीकर की सीट नहीं गई है. लेकिन इस बार पार्टी ने जबरदस्त प्रदर्शन कर पूरे राज्य की सियासत के समीकरण बदल दिए हैं.विजय सिन्हा लखीसराय से भाजपा के विधायक हैं। इस सीट पर वो इस बार लगातार तीसरी बार चुनाव जीते हैं. 2015 में जब आरजेडी और जेडीयू ने मिलकर चुनाव लड़ा तो उस स्थिति में भी विजय सिन्हा का दबदबा लखीसराय में कायम रहा और उन्होंने बीजेपी के टिकट पर जीत दर्ज की. विजय सिन्हा ने जेडीयू के रामानंद मंडल को हराया था.

मौजूदा चुनाव में विजय सिन्हा के सामने महागठबंधन उम्मीदवार के रूप में कांग्रेस के अमरेश कुमार थे. अमरेश कुमार को विजय सिन्हा ने 10 हजार से मतों के अंतर से चुनाव हराया. विजय सिन्हा का जन्म 5 जून 1967 को हुआ था. उन्होंने बेगूसराय के सरकारी पॉलीटेक्निक कॉलेज से सिविल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा किया था. उन्होंने 1989 में ये डिप्लोमा हासिल किया था.

विधायक के साथ-साथ विजय सिन्हा को सरकार का भी अनुभव है. पिछली नीतीश कुमार सरकार में वो श्रम संसाधन मंत्री रहे हैं. विजय सिन्हा भूमिहार जाति से आते हैं. राज्य में प्रवक्ता के अलावा संगठन में भी विजय सिन्हा कई स्तर पर काम कर चुके हैं.

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *