विकास के जरिए पलामू जीतेंगे रघुवर!

-रघुवर पर भरोसा करते हैं लोग पर भाजपा प्रवक्ता कह नहीं पाते अपनी बात

-प्रदेश कार्यसमिति की बैठक के बहाने कार्यकर्ताओं को जगाने की कोशिश

-60 सीटों के लक्ष्य में पलामू हो सकता है सहायक

मुख्यमंत्री रघुवर दास पलामू में आयोजित भाजपा की दो दिवसीय प्रदेश कार्य समिति की बैठक में खूब बोले. गांव के विकास की बातें की. कार्यकर्ताओं को दुलारा, अधिकारियों को चेताया तो नक्सलियों को ललकारा. मकसद साफ था कि विकास की यात्रा को ही सियासत का पाथेय बनाया जाये. झारखण्ड में 60 सीट जितने के मिशन में पलामू प्रमंडल की सभी 9 सीट काफी सहायक हो सकती है. हालांकि अभी भी इस प्रमंडल में एनडीए के विधायक ही ज्यादा हैं.
रघुवर को पता है कि संगठन की कमजोर स्थिति के चलते ही पिछली बार दूसरी पार्टियों से आयातित उम्मीदवार लाकर उन्हें टिकट दिया गया था. चाहे गढ़वा से सत्येन्द्र तिवारी हों या डाल्टनगंज के विधायक आलोक चौरसिया हों. इसलिए आनेवाले चुनाव में भाजपा के कार्यकर्ता खुद सक्षम हों, यह भी पार्टी की रणनीति है.
अमित शाह के झारखण्ड के दौरे से पूर्व भाजपा की प्रदेश इकाई यह प्रयास भी कर रही है कि दिल्ली को बताया जाये कि संगठन और सरकार के स्तर पर सब ठीक है. दिल्ली किसी भी कीमत पर देश फतेह अभियान पूरा करना चाहती है और किसी भी प्रदेश में यह विजय रथ पिछड़ जाये, यह दिल्ली को मंजूर नहीं. बहरहाल पलामू की दो दिवसीय बैठक सफल दिखती है, क्योंकि आम कार्यकर्ता मुख्यमंत्री की बातों पर भरोसा करते हैं. प्रवक्ता अपनी बातें ठीक से नहीं कह पाए, यह जरुर दिखा लोगों को.

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *