राजनीति गुरु ने उठाया पिछड़ों के अस्तित्व का सवाल…सबका समर्थन

राजनीति गुरु डॉट कॉम ने पिछले एक वर्ष से लगातार झारखंड के पिछड़ों के सम्मान के सवाल को उठाया और सबको बताया कि कैसे प्रदेश में आरक्षण के सवाल पर पिछड़े वर्ग के साथ ना इंसाफी की गयी है. कई बार हर जिले में बड़े सैंपल साइज़ का सर्वे करके पिछड़े वर्ग से जुड़े सवालों को लगातार उठाकर जनमत बनाने की हमने कोशिश की और इसमें सफल भी रहे. अब जब चुनाव की घोषणा हो चुकी है, सभी दल पिछड़ों के साथ हुए अन्याय का रोना रो रहे हैं और यह वादा भी कर रहे हैं कि उनकी सरकार बनी तो पिछड़ों को 27 फीसदी आरक्षण दिया जायेगा.

पहले कोई भी दल पिछड़े वर्ग की बात भी नहीं करना चाहता था. किसी भी मिडिया को पिछड़ों का सवाल उठाने में शर्म आती थी, तब हमने पूरे वर्ष अभियान की शक्ल में इस इशू को प्रदेश की पॉलिटिक्स में केंद्र में लाया. पिछड़े वर्ग के मसीहा चन्दापुरी की तलाश की और झारखंड में अखिल भारतीय पिछड़ा वर्ग संघ की कई बैठकों के लिए उन्हें प्रदेश की ताज़ा स्थिति से अवगत कराया और एक तरह से उनका नॉलेज पार्टनर बना.

हमें इस बात की ख़ुशी है कि अब भाजपा ने भी इस मुद्दे पर गंभीरता दिखाई है. मुख्यमंत्री रघुवर दास ने खुद कई मंच से कहा है कि पिछड़ों के साथ इन्साफ होगा. इसके बाद कांग्रेस, झामुमो, आजसू और झाविमो समेत सभी दलों ने अपने अपने मंच से पिछड़ों के सम्मान की बात कही है.

हमें इस बात की भी ख़ुशी है कि प्रदेश के तकरीबन 50 फीसदी आबादी वाले पिछड़ों के आरक्षण का सवाल अब झारखंड का मुख्य चुनावी मुद्दा है. कोई भी दल इसे इग्नोर नहीं कर सकता. अगली सरकार जिस भी दल की बने लेकिन पिछड़ों के सवाल का हल अब ढूंढना ही होगा.

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *