युवाओं को स्वामी विवेकानंद के विचार पर आगे बढ़ने की आवश्यकता: दीपक प्रकाश

स्वामी विवेकानंद जी की जयंती के अवसर पर राँची के मेकॉन चौक स्थित विवेकानंद जी की प्रतिमा पर भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सह सांसद दीपक प्रकाश ने माल्यार्पण करते हुए कहा कि स्वामी विवेकानंद जी आधुनिक भारत के एक महान चिंतक, दार्शनिक, युवा संन्यासी, युवाओं के प्रेरणास्त्रोत और एक आदर्श व्यक्तित्व के धनी थे। स्वामी विवेकानन्द भारतीय संस्कृति के प्रचारक-प्रसारक एवं उन्नायक के रूप में जाने जाते हैं।
विश्वभर में जब भारत को निम्न दृष्टि से देखा जाता था, ऐसे में स्वामी विवेकानंद ने 11 सितंबर, 1883 को शिकागो के विश्व धर्म सम्मेलन में हिंदू धर्म पर प्रभावी भाषण देकर दुनियाभर में भारतीय आध्यात्म का डंका बजाया। स्वामी विवेकानंद जी ने हमेशा युवाओं पर अपना ध्यान केंद्रित किया और युवाओं को आगे आने के लिए आह्वान किया।
स्वामी विवेकानंद ने अपनी ओजस्वी वाणी से हमेशा भारतीय युवाओं को उत्साहित किया है। स्वामी विवेकानंद के विचार सही मार्ग पर चलते रहने की प्रेरणा देते हैं।

उन्होंने कहा को युवाओं के प्रेरणास्त्रोत, समाज सुधारक स्वामी विवेकानंद ने युवाओं का आह्वान करते हुए कठोपनिषद का एक मंत्र कहा था:- उठो, जागो और तब तक मत रुको जब तक अपने लक्ष्य तक ना पहुँच जाओ। आज के युवाओं को सीखने की आवश्यकता है। युवा देश को नई दिशा और दशा देने की माद्दा रखते हैं। देश के भविष्य आज के युवा हैं। इस कार्यक्रम में भारतीय जनता पार्टी महानगर के कार्यकर्ता गण उपस्थित थें।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *