मतदाताओं को जागरुक करने के लिए हर प्लेटफॉर्म पर चल रहा जागरुकता अभियान : खियांग्ते

लोकसभा निर्वाचन में मतदाताओं की सहभागिता सुनिश्चित करने के लिए लगातार जागरुकता अभियान चलाया जा रहा है. यह बातें मंगलवार को मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी एल खियांग्ते ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कही. उन्होंने कहा कि भारत निर्वाचन आयोग के द्वारा दिए गए निर्देश के आलोक में मतदाताओं को जागरुक और मतदान प्रतिशत को बढ़ाने के लिए प्रचार-प्रसार के लिए विभिन्न माध्यमों का इस्तेमाल किया जा रहा है. इस कड़ी में सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग के एलईडी वैन में निर्वाचन आयोग द्वारा मतदाता जागरूकता को लेकर तैयार किए गए वीडियो का प्रदर्शन किया जा रहा है. उन्होंने बताया कि मतदाता जागरूकता को लेकर स्थानीय स्तर पर तैयार प्रचार सामग्रियों यथा जिंगल्स, वीडियो क्लिप्स, एड फिल्म्स को मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी के फेसबुक पेज, ट्वीटर, और इंस्टाग्राम जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर देखा जा सकता है. साथ ही स्टैटिक व मोबाइल स्क्रीन, सिनेमा हॉल और एलइडी वैन के जरिए भी प्रचार-प्रसार किया जा रहा है.

644 ईवीएम-वीवीपैट स्टैटिक सेंटर बनाए गए
श्री खियांग्ते ने बताया कि मतदाताओं को ईवीएम-वीवीपैट से संबंधित प्रशिक्षण देने के लिए पूरे राज्य में 644 ईवीएम-वीवीपैट स्टैटिक सेंटर बनाए गए हैं. इसके अलावा ईवीएम-वीवीपैट को प्रदर्शित करने के लिए 1476 मोबाइल वैन का इस्तेमताल किया जा रहा है. उन्होंने बताया कि 20118 मतदान केंद्रों में चुनावी पाठशाला का गठन किया गया है, जबिक विभिन्न संस्थानों में 825 वोटर अवेयरनेस फोरम का गठन किया गया है. इसके साथ विभिन्न महाविद्यालयों और विद्यालयों में 3359 मतदाता साक्षरता क्लब बनाया जा चुका है. श्री खियांग्ते ने बताया कि सभी विश्वविद्यालयो के रजिस्टार और डीन के साथ 29 मार्च को बैठक आयोजित होगी. इसके साथ विभिन्न जिलों में चयनित किए गए कॉलेज अंबेसडरों के साथ भी अप्रैल के पहले सप्ताह में बैठक होगी.
सी-विजिल पर मिली 197 शिकायतें
श्री खियांग्ते ने बताया कि सी-विजिल पर आदर्श चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन की 197 शिकायतें आ चुकी हैं. इनमें 54 शिकायतें सही पाई गई, जिसका संबंधित प्राधिकार द्वारा निष्पादन किया जा चुका है. इसके साथ बिना अनुमति के साउंड सिस्टम का इस्तेमाल, पंपलेट वितरण व अन्य मामलों में 20 शिकायतें प्रतिवेदित की गई है जिसमें से 16 मामलों में प्राथमिकी दर्ज करने की बात कही गई है.

हेल्पलाइन नंबर 1950 का हो व्यापक प्रचार प्रसार
श्री खियांग्ते ने कहा कि मतदाताओं की सहायता के लिए हेल्पलाइन नंबर 1950 जारी किया गया है. इसके जरिए मतदाता अपने मतदान केंद्र की जानकारी लेने के साथ मतदाता सूची में नाम दर्ज कराने और इपिक कार्ड बनाने के लिए आवेदन कर सकते हैं. इस हेल्पलाइन नंबर का ज्यादा से ज्यादा प्रचार-प्रसार किया जा रहा है, ताकि लोग इसके उपयोग से अवगत हो सकें. उन्होंने बताया कि 28 मार्च को सभी मतदान केंद्रों पर बीएलओ उपस्थित रहेंगे. कोई भी मतदाता यहां मतदाता सूची में नाम दर्ज कराने के लिए आवेदन देने के साथ मतदान केंद्र की अवस्थिति के बारे में जानकारी ले सकता है. श्री खियांग्ते ने बताया कि कोई भी व्यक्ति एंड्रायड मोबाइल के गूगल प्ले स्टोर और आईफोन से वोटर हेल्पलाइन को डाउनलोड कर सकता है.

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *