भाजपा को पश्चिम बंगाल सहित पूरे देश में मिलेगा बड़ा ‘रसोगुल्ला : ममता बनर्जी

तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी ने कहा कि पश्चिम बंगाल सहित पूरे देश में भाजपा  को एक बड़ा ‘रसोगुल्ला’ मिलेगा. दरअसल, ममता बीजेपी के लिये बंगाल की प्रसिद्ध मिठाई का जिक्र जरूर कर रही हैं लेकिन रसोगुल्ला का इस्तेमाल वह लोकसभा चुनावों में बीजेपी को मिलने वाली ‘शून्य’ सीटों के संदर्भ में कर रही हैं.

उत्तरी बंगाल के दक्षिणी दिनाजपुर जिले में दो चुनावी रैलियों को संबोधित करते हुए उन्होंने लोकप्रिय हिंदी कहावत का जिक्र करते हुए कहा, ”दिल्ली का लड्डू-जो खाया वो पछताया, उन्हें इस बार बंगाल में बड़ा शून्य मिलेगा.” बनर्जी ने कहा कि प्रधानमंत्री का बंगाल में मतदाताओं के दोनों हाथों में लड्डू देने का वादा कभी पूरा नहीं होगा.

बंगाल में 2016 के विधानसभा चुनावों से पहले प्रधानमंत्री मोदी ने एक जनसभा में कहा था कि अगर लोग राज्य में बीजेपी को सत्ता में लेकर आते हैं तो उनके दोनों हाथों में ‘लड्डू’ होंगे. केंद्र में एनडीए सरकार होगी तो दूसरी तरफ राज्य में. बंगाल की 42 संसदीय सीटों में से कम से कम आधी सीटें जीतने के बीजेपी के लक्ष्य पर निशाना साधते हुए बनर्जी ने कहा, ”2014 में उन्हें दो सीटें मिलीं, इस बार यहां उन्हें रसोगुल्ला (शून्य) मिलेगा.”

हिंदी भाषी राज्यों में परीक्षा में अनुत्तीर्ण होने वालों के लिये जिस तरह ‘लड्डू’ मिलने की बात कही जाती है उसी तरह पश्चिम बंगाल में ‘रसोगुल्ला’ मिलने की बात कही जाती है. आम चुनावों में बीजेपी को 100 से ज्यादा सीटें नहीं मिलने की बात करते हुए तृणमूल अध्यक्ष ने दावा किया कि आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु और केरल में वो एक भी सीट नहीं जीतेगी. उन्होंने कहा, ”उत्तर प्रदेश में उनके पास 73 सीटें थीं, मुझे शक है कि क्या वे (बीजेपी) इस बार करीब 13 सीट भी जीत पाएगी.” उन्होंने कहा कि बीजेपी उत्तर पूर्वी क्षेत्र और ओडिशा में एक भी सीट नहीं जीत पाएगी.

केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली के बंगाल में चुनाव चौंकाने वाले होंगे पर तीखी टिप्पणी करते हुए तृणमूल नेता ने कहा, ”मैं भी कहती हूं कि शून्य मिलने से उनके लिये भी चौंकाने वाली बात होगी.” बनर्जी ने दावा किया कि अगर नरेंद्र मोदी सत्ता में वापस आए तो लोग अपनी अभिव्यक्ति की आजादी खो देंगे.

ममता ने बंगाल में तैनात केंद्रीय बलों से अनुरोध किया कि वे राज्य पुलिस के साथ मिलकर काम करें. उन्होंने साथ ही कहा कि प्रशासन यहां उनके (केंद्रीय बलों के) निष्पक्ष रूप से काम करने में मदद के लिये है. उन्होंने राज्य में चुनावी ड्यूटी पर तैनात केंद्रीय बलों के कर्मियों से कहा, ”बीजेपी की मत सुनिये. वे कल सत्ता में नहीं आएंगे, तब आपकी देखभाल कौन करेगा.”

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *