बार-बार होने वाले चुनावों से बेहतर है एक साथ चुनाव कराना : नायडू

उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने देश में बार-बार चुनाव कराए जाने को चिंता का विषय बताते हुए कहा कि पूरे देश में ह्यएक साथ और व्यापक स्तर परह्ण चुनाव कराया जाना चाहिए।
यहां ह्यपुण्यभूषणह्ण पुरस्कार समारोह में बोलते हुए उन्होंने कहा कि ह्यचूंकि चुनाव नजदीक हैं और आदर्श आचार संहिता लागू की जा रही है और कुछ साथी (सांसद एवं मंत्री) इस समारोह में शामिल नहीं हो सकते…. बार-बार चुनाव देश के लिए चिंता का विषय है।ह्ण उन्होंने विख्यात पुरातत्वविद जीबी देगलुरकर को प्रतिष्ठित पुरस्कार प्रदान किया।

नायडू ने कहा कि चुनाव के कारण करीब डेढ महीने तक आदर्श आचार संहिता लागू रहती है और हर किसी को चुनाव, चयन और सुधार के फार्मूले का पालन करना होता है। उन्होंने कहा कि ह्यइसलिए यह देश के हित में है कि 15 दिनों के भीतर देश भर में एक व्यापक और एक साथ चुनाव होना चाहिए, ताकि जनता के काम में किसी प्रकार की कोई रूकावट न आये, वह कमजोर या धीमा न हो।ह्ण

नायडू ने देगलुरकर की प्रशंसा करते हुए कहा कि पुरातात्विक स्थल ऐसे पुल होते हैं, जो अतीत को वर्तमान से जोड़ते है। उन्होंने कहा कि ह्यपुरातत्व शास्त्र एक आकर्षक विषय है, जो साक्ष्यों के साथ इतिहास की हमारी समझ को बढ़ाता है।

इस विशेषता के कारण, यह किसी भी अन्य मानव विज्ञान की तुलना में अधिक विश्वसनीय हो सकता है।ह्ण नायडू ने कहा कि पुरातत्व विज्ञान अतीत के विभिन्न आयामों का खुलासा करने में अहम भूमिका निभाता है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *