बाबूलाल और हेमंत सोरेन के बीच पाक रही सियासी खिचड़ी

प्रदेश में विधानसभा चुनाव की तैयारी में कमोवेश सभी राजनीतिक दल के पदाधिकारी और कार्यकर्ता व्यस्त हैं. इसबार अधिक से अधिक सीटें लाने की योजना पर सभी काम कर रहे हैं.भाजपा जहां मिशन 65प्लस पर काम कर रही है.वहीँ तमाम विपक्षी दल भाजपा को दुबारा सत्ता में आने से रोकने के लिए किसी भी हद से गुजरने के लिए तैयार हैं.विधानसभा चुनाव में मुख्य विपक्षी दल झारखंड मुक्ति मोर्चा द्वारा इसकी तैयारी के लिए बदलाव यात्रा का भी आयोजन किया गया है. पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष सह पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन खुद सभी जिले में जाकर जनता से बदलाव लाने की अपील कर रहे हैं.लेकिन उन्हें यह लग रहा है कि भाजपा को सत्ता में आने से रोकने के लिए अकेले झामुमो की सेना काफी नहीं है.इसके लिए सभी विपक्षी सेना को एकजुट करने की जरूरत है. इस बीच हेमंत सोरेन गुरुवार को धनबाद में झाविमो प्रमुख बाबूलाल मरांडी से स्थानीय परिसदन के बंद कमरे में करीब दो घंटे तक बातचीत किया है. हालांकि बातचीत के बाद मीडिया को एक इसे एक शिष्टाचार मुलाकात बताया. लेकिन सूत्रों की माने तो विधानसभ चुनाव में सीट शेरिंग पर इस बैठक में चर्चा हुई है. साथ ही यह भी चर्चा हुई कि यदि कांग्रेस साथ नहीं आती है तो झामुमो,राजद और झाविमो चुनाव मैदान में उतर सकती है. उधर कांग्रेस के नये प्रदेश अध्यक्ष रामेश्वर उराँव ने विधानसभा चुनाव में सीट शेयरिंग को नये सिरे से तैयार करने की बात कही है.साथ ही महागठबंधन के तहत ही चुनाव लड़ने की बात भी कही है.

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *