राहुल की जुबान फिसली,कहा-मोदी ने जूता मार कर आडवाणी को भगाया

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा है कि भाजपा हिंदु संस्कृति और हिंदुत्व की बात करती है.लेकिन भाजपा उस संस्कृति का अपमान करने में सबसे आगे रहती है. भारतीय संस्कृति में गुरु का स्थान काफी ऊँचा है. लेकिन पीएम मोदी ने अपने गुरु लालकृष्ण आडवाणी का अपमान करने में थोडा भी नहीं हिचकते हैं.
उन्होंने चंद्रपुर की रैली में यह बयान देते हुए कहा कि शिष्य गुरु के सामने हाथ भी नही जोड़ता. शिष्य (नरेंद्र मोदी) ने गुरू (लालकृष्ण आडवाणी) को जूता मारकर स्टेज से नीचे उतार दिया और ऐसे लोग हिंदू धर्म की बात करते हैं. किसी भी गुरू का अपमान करना हिंदू धर्म की संस्कृति नहीं है.

दरअसल ये बयान ऐसे समय में आया है जब लालकृष्ण आडवाणी को लोकसभा चुनाव के लिए उनकी परंपरागत सीट गांधीनगर से टिकट नहीं दिया गया और उनकी जगह बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह को वहां से उम्मीदवार बनाया है. बता दें कि कल ही लालकृष्ण आडवाणी ने एक ब्लॉग भी लिखा है जिसमें उन्होंने कहा कि बीजेपी ने राजनीतिक रूप से असहमत होने वालों को कभी को राष्ट्रविरोधी या देशद्रोही नहीं माना है.

इसके अलावा राहुल गांधी ने आज एक ट्वीट किया है जिसमें उन्होंने परोक्ष रूप से राजनीति पर तो कुछ नहीं कहा लेकिन अपरोक्ष रूप से उनसे नफरत करने वालों के लिए एक संदेश दिया है. राहुल गांधी ने ट्वीट में नफरत करने वालों को कायर बताया है और कहा है कि वो कायर नहीं हैं.

राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में लिखा है कि नफरत कायरता है. मुझे इस बात की कोई परवाह नहीं है चाहे पूरी दुनिया नफरत से भरी हो. मैं कायर नहीं हूं. मैं नफरत और गुस्स के पीछे नहीं छुपने वाला हूं. मुझे सभी जीवों से प्यार है और इसमें वो लोग भी शामिल हैं जो अस्थाई रूप से नफरत में अंधे हो चुके हैं.

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *