नए मोटर वाहन कानून जनता पर थोप कर लोगों को परेशान कर रही भाजपा की सरकार : भाकपा

भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी झारखंड राज्य के सहायक सचिव महेन्द्र पाठक राज्य परिषद सदस्य अजय सिह ने बयान जारी कर कहां है कि नया मोटर कानून भारतीय जनता पार्टी के द्वारा जनता पर थोपा गया है जिस तरह से नोटबंदी ,जीएसटी से देश परेशान हैं. केन्द्र सरकार के द्वारा बगैर कोई तैयारी बगैर कोई सोचे समझे उसी तरह से नया कानून को भी सौंपा गया है आज सही से न तो ड्राइविंग लाइसेंस बन रहा है. प्रदूषण जांच केंद्र भी न के बराबर है ।और है बी लाइसेंस आज लगभग 10 वर्षों से बंद है ड्राइविंग लाइसेंस के नवीकरण भी आठ 10 वर्षों से बंद पड़ा हुआ है ।अगर सरकार पूर्व के कानून को कड़ाई से पालन कराने में सफल होता तो आज थोपा गया नया कानून को लेकर देश के अंदर बवाल होता आज नरेंद्र मोदी की भारतीय जनता पार्टी की सरकार बगैर समझे सोचे लगातार जनता पर बोझ डालने की कोशिश कर रही है और पुलिसिया रौब के कारण लोग परेशान हैं अनाप-शनाप चालान के नाम पर फाईन बसूला जा रहा है ।देश के अंदर कई तरह की अवैध वसूली इस कानून के आड़ में हो रही है रामगढ़ की घटना ₹24000 की मालवाहक टेंपो पर ₹35000 की फाइन लगाया गया है जबकि उसके पास सारे कागजात सही होने पर भी उसे फाइन असोला गया है उसी गलती सिर्फ इतनी थी कि मात्र 300 ग्राम ओवरलोड कहा जा सकता है जबकि बड़े-बड़े ट्रकों में हाईवा हो या ट्रक लोरी हो अब बड़े वाहन यार एक इन सभी वाहनों में बड़े पैमाने पर ओवरलोड चल रहा है लेकिन अधिकारियों से सेटिंग गेटिंग के आधार पर रोड पर ओवरलोड गाड़ियां दौड़ रही है सरकार उसी तरह से काम कर रही है जिस तरह से देश के अंदर बगैर कोई तैयारी का डिजिटल इंडिया काम कर रही है नोटबंदी और जीएसटी के तरह यह भी एक नए काला कानून देश पर थोप कर पूरे देश के अंदर लोगों को उलझाने का प्रयास सरकार की है भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी इस काले कानून को वापस लेने की मांग करती है और अपने तमाम जिला इकाइयों को निर्देशित किया है ।सरकार के इस गलत फैसले के विरोध में सड़कों पर उतर कर विरोध प्रदर्शन प्रतिवाद मार्च पुतला दहन आदि कार्रवाई करें अभी से लेकर अपने-अपने क्षेत्रों में बड़े पैमाने पर प्रचार प्रसार कर मोटरसाइकिल स्कूटर टेंपो एवं अन्य वाहन चालकों को संगठित कर बड़े पैमाने पर सरकार के विरोध में जन कार्रवाई करें ।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *