दीदी के कब्जे से पश्चिम बंगाल को कराना है मुक्त : मोदी

पश्चिम बंगाल के कूचबिहार में  रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने आगे कहा कि पश्चिम बंगाल की स्पीड ब्रेकर दीदी आजकल चैन से सो नहीं रही है. आजकल उनपर गालियों की बौछार हो रही है. अब पश्चिम बंगाल को दीदी के कब्जे से मुक्त कराना है. उन्होंने कहा कि आप जितना मोदी-मोदी करते हैं, दीदी की बेचैनी उतनी ही बढ़ती जा रही है.

पीएम मोदी ने कहा कि राजनीति में जमीन खिसकना क्या होता है, अगर किसी को समझना हो, तो दीदी की बौखलाहट, दीदी का गुस्सा, देखकर समझ सकता है. मुझे पर आजकल गालियों की जो बौछार हो रही है, चुनाव आयोग पर वो जिस तरह भड़क रही हैं, उससे भी पता चलता है कि दीदी कितनी डरी हुई हैं. उन्होंने कहा कि आज इस चौकीदार पर देश को इसलिए इतना विश्वास हुआ है, क्योंकि लोगों को लगने लगा है कि नामुमकिन भी अब मुमकिन है. गरीब से गरीब के पास भी अपना बैंक खाता, अपना रुपे डेबिट कार्ड होगा, ये कभी नामुमकिन लगता था, लेकिन अब मुमकिन है.

रैली में मौजूद लोगों को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि गरीब से गरीब की रसोई में भी गैस पर खाना बनेगा, ये भी पहले नामुमकिन लगता था, लेकिन अब मुमकिन है. आगे उन्होंने कहा कि बांग्लादेश के साथ जमीन समझौता दशकों से लटका हुआ था. कूच बिहार के लिए ये कितना महत्वपूर्ण था. इस समझौते पर कभी अमल होगा, ये भी नामुमकिन लगता था. लेकिन ये भी मुमकिन हुआ.

पीएम मोदी ने कहा कि भारत कभी आतंकवादियों के घर में घुसकर मारेगा, ये भी नामुमकिन लगता था, लेकिन अब ये भी मुमकिन है. 2014 से पहले आए दिन आतंकवादी हमले होते थे, वो कहां से आते थे, कौन उनको भेजता था, ये तब की सरकार को भी पता था. हमारे जांबाज़ सपूत तब की सरकार से बदला लेने के लिए कहते थे लेकिन सरकार के कदम फैसला लेने से पहले ही कांप जाते थे.

उन्होंने कहा कि मजबूत होते भारत से कुछ लोगों को कष्ट हो रहा है. जब भारत अंतरिक्ष में महाशक्ति बन रहा है, तो दीदी को ये परेशान करता है. जब भारत आतंक पर सख्ती दिखाता है, तब दीदी को ये परेशान करता है. अब दीदी इतनी परेशान हैं कि दिन-रात एक ही बात कर रही हैं. अपने राजनीतिक फायदे के लिए घुसपैठियों को बचाकर दीदी ने माटी के साथ भी विश्वासघात किया है. पश्चिम बंगाल के लोगों को टीएमसी के गुंडों के हवाले करके उन्होंने मानुष की सारी उम्मीदें तोड़ दी हैं, उसका जीवन मुश्किल में डाल दिया है.

प्रधानमंत्री ने कहा कि दीदी अब ऐसे लोगों का साथ दे रही हैं जो भारत में दो प्रधानमंत्री चाहते हैं. क्या भारत में दो प्रधानमंत्री होने चाहिए? लेकिन दीदी ने मोदी विरोध में अपने ऐसे साथियों पर भी चुप्पी साध ली है. 

रैली में पीएम मोदी ने कहा कि दीदी पर आपने बहुत भरोसा किया था. लेकिन उन्होंने आपका वो भरोसा चकनाचूर कर दिया है. पश्चिम बंगाल में बुआ-भतीजे का गठजोड़ इस महान धरती को गुंडों, घुसपैठियों, जानवरों और इंसानों के तस्करों, टोलाबाज़ों का गढ़ बनाने पर तुला हुआ है. स्पीड ब्रेकर दीदी ने अगर केंद्र सरकार की योजनाओं को रोका नहीं होता, तो आज बहुत सी सुविधाओं का लाभ आपको भी मिलता. अब 2019 का ये लोकसभा चुनाव आया है दीदी को सबक सिखाने के लिए.

पीएम मोदी ने कहा कि दीदी का असली चेहरा दुनिया के सामने लाना जरूरी है. ये धरती इतने सामर्थ्य से भरी हुई है लेकिन वो पश्चिम बंगाल की संस्कृति को, यहां के गौरव को, यहां के नागरिकों के जीवन को तबाह करने पर तुली हुई हैं. क्या दीदी ने आपको बताया कि क्यों पश्चिम बंगाल में 7वें वेतन आयोग की सिफारिशें लागू नहीं की जा रही हैं ? क्या दीदी ने आपको बताया कि क्यों परीक्षा पास करने के बावजूद, हज़ारों युवाओं की नौकरी पर ब्रेक लगा दिया गया है. उन्होंने कहा कि क्या दीदी ने आपको बताया कि यहां के चाय बगानों में शिक्षा और स्वास्थ्य से जुड़ी सुविधाओं को रोकने का काम क्यों किया जा रहा है.

आगे रैली में मौजूद लोगों को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि पश्चिम बंगाल में कम्यूनिस्टों के शासन के बाद इस तरह सरकार चलाई जाएगी, इसकी उम्मीद किसी को नहीं थी. मां शारदा को पूरा देश पूजता है, उनसे हम ज्ञान, सद्-बुद्धि मांगते हैं, लेकिन इन्होंने बंगाल को सारदा स्कैम से बदनाम कर दिया. फङ्म२ी का नाम सुनते ही लोग फूलों की बात करते हैं, लेकिन पश्चिम बंगाल में ह्यफङ्म२ीह्ण सुनते ही गरीबों को कांटा चुभने की याद आने लगती है. उन्होंने कहा कि आपका ये चौकीदार आपके हितों की रक्षा के लिए, देश के लोगों की रक्षा के लिए पूरी तरह चौकन्ना है, समर्पित है. आपका ये चौकीदार घुसपैठियों की पहचान करने के लिए असम में ठफउ लेकर आया. आपके ये चौकीदार सिटिजनशिप अमेंडमेंट बिल भी लेकर आया. हमारी कोशिश मां भारती की संतानों को, मां भारती में आस्था रखने वालों को सुरक्षा देने की थी.

पीएम मोदी ने कहा कि दीदी अपने महामिलावटी साथियों के साथ मिलकर इस पर भी ब्रेक लगाने के चक्कर में है. लेकिन ये चौकीदार इस विषय में भी पूरी तरह से चौकन्ना है. बंगाल की जनता ने मन बना लिया है. अब बंगाल में ना टोलागिरी चलेगी ना गुंडागिरी. आपको किसी से डरने की जरूरत नहीं है. कोई आपका वोट छीन नहीं पाएगा.

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *