दरभंगा से कीर्ति और सहनी आमने सामने

दरभंगा सीट आनेवाले दिनों में गठबंधन की तनातनी का एक महत्वपूर्ण कारण हो सकता है. भाजपा से कांग्रेस में गए सांसद कीर्ति झा आज़ाद का टिकट जहां कन्फर्म माना जा रहा है, वहीँ राजद ने मुकेश सहनी की पीठ ठोककर इस सीट को उलझा दिया है. अभी गठबंधन की ओर से सीटों की औपचारिक घोषणा नहीं हुई है. ऐसे में दरभंगा पर रार जारी रहने की संभावना है.   

इस संबंध में वीआईपी के प्रधान मुकेश सहनी ने गुरुवार को यह कहकर अपनी नाराजगी जाहिर की थी कि वह चुनाव ही नहीं लड़ेंगे. इसे उनकी सार्वजनिक  नाराजगी का इजहार माना गया. हालांकि बाद में उन्होंने स्पष्ट किया कि मैं नाराज नहीं हूं. उन्होंने बताया कि लोकसभा चुनाव में ज्यादा क्षेत्रों में प्रचार कर सकूं, राजग को हराने का कारगर उपाय कर सकूं , इसलिए खुद चुनाव नहीं लड़ने की बात की थी . सहनी अभी भी कह रहे हैं कि दरभंगा से कांग्रेस नहीं लड़ेगी. यह राजद की सीट थी. यहां से वीआईपी या राजद के उम्मीदवार होंगे.

वैसे बिहार में कांग्रेस के सूत्र बताते हैं कि दरभंगा से कीर्ति झा आज़ाद का लड़ना तय है. ऐसे में अगर राजद ने मुकेश सहनी के नाम पर सियासत तेज़ की तो आनेवाले दिनों में सियासी तकरार और बढ़ सकती है.  

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *