तीसरी बार दिल्ली के शाह बनेंगे केजरीवाल

आप के झाड़ू से उड़ गया कमल , कांग्रेस जीरो पर

दिल्ली विधानसभा चुनाव के परिणामों ने आप पार्टी को केवल ऐतिहासिक बहुमत ही नहीं दिया है बल्कि कई समीकरणों को उलट पुलट करते हुए अरविन्द केजरीवाल के तीसरी बार दिल्ली के मुख्यमंत्री बनने का रास्ता भी साफ़ कर दिया है . लगभग 63 सीटों पर बढ़त बनाने वाली आम आदमी पार्टी (आप) के आगे भाजपा का कमल मुरझा गया है. भाजपा की करारी हार तो हुई ही कांग्रेस का दिल्ली में खाता भी नहीं खुल पाया. पटपड़गंज से उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया 12 राउंड की गिनती तक पीछे चले और 13वें राउंड में आगे हुए। उन्होंने अपनी जीत पर कहा कि भाजपा ने नफरत की राजनीति की, पर दिल्ली ने काम करने वालों को चुना।

दिल्ली के नतीजों के बाद भाजपा ने कहा कि हम दिल्ली का जनादेश स्वीकार करते हैं। पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने केजरीवाल को जीत की बधाई दी और कहा कि हम सकारात्मक विपक्ष की भूमिका निभाएंगे। दिल्ली की 70 विधानसभा सीटों के लिए 8 फरवरी को 62.59% वोट डाले गए थे। भाजपा 22 साल और कांग्रेस 7 साल से सत्ता से दूर है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल तीसरी बार सीएम बनने जा रहे हैं। वे पहली बार 2013 में 48 दिन इस पद पर रहे, फिर इस्तीफा दे दिया था। उन्होंने दूसरी बार 14 फरवरी 2015 को सत्ता संभाली थी।

मंगलवार सुबह टीवी चैनलों के रुझानों में शुरुआती 15 मिनट में ही यह तय हो गया था कि आप की जीत पक्की है। 8 बजकर 21 मिनट पर सभी 70 सीटों के रुझान आ गए और आप ने 50+ सीटों पर लीड बना ली।

वोटिंग के बाद दिल्ली में एग्जिट पोल के अनुमान सामने आए। 7 एग्जिट पोल में आप को स्पष्ट बहुमत का अनुमान जाहिर किया गया। पोल ऑफ पोल्स में आप को 55, भाजपा को 14 और कांग्रेस को 01 सीटें दी गई थीं। पोल ऑफ पोल्स रुझानों के काफी करीब रहा।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *