डीपी त्रिपाठी संघर्ष और आंदोलन से उपजे नेता थे: हरिवंश

राष्ट्रवादी कांग्रेस के महासचिव, पूर्व संसद सदस्य व वरिष्ठ नेता डीपी​ त्रिपाठी के निधन पर राज्यसभा के माननीय उपसभापति श्री हरिवंश ने शोक व्यक्त किया है.अपने शोक संदेश में उपसभापति ने कहा है कि वह भारतीय राजनीति में एक प्रखर बौद्धिक व प्रतिभावान नेता थे. उनके जाने से सामाजिक-राजनीतिक जीवन में एक रिक्तता आई है.ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करे.श्री हरिवंश ने कहा कि डीपी​ त्रिपाठी को संसदीय राजनीति में आने से पहले, पत्रकारिता के समय से ही निजी रूप से जानता रहा. बाद में राज्यसभा में आने पर उनके साथ काम करने का मौका मिला, उनकी राजनीति को देखने—समझने का मौका मिला. वह संघर्ष और आंदोलन से उपजे नेता थे. जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय छात्र संघ के अध्यक्ष के रूप में वह चर्चे में आये ​थे और उसके बाद संसदीय राजनीति में आने पर उन्होंने अपनी अलग छाप छोड़ी.आपातकाल में वह जेल भी गये.वह वक्तृत्व कला में भी निपुण थे,बड़े ओजस्वी वक्ता थे। उनका कृतित्व उन्हें हमेशा अमर रखेगा.

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *