झाविमो के एमएलए से बनती है प्रदेश में सरकार,लेकिन इसबार भाजपा का मिशन होगा निराधार : बाबूलाल

:विधानसभा चुनाव के मद्देनजर पार्टी द्वारा घोषित आगामी 25 सितम्बर को राँची के प्रभात तारा मैदान, धुर्वा में राज्य स्तरीय “जनादेश समागम” को सफल बनाने को लेकर आज झाविमो,राँची महानगर की विस्तारित बैठक पार्टी मुख्यालय, डिबडीह, राँची में सम्पन्न हुई।बैठक की अध्यक्षता राँची महानगर के अध्यक्ष सुनील गुप्ता एवं मंच संचालन महासचिव जितेंद्र वर्मा ने किया। बैठक में मुख्य रूप से पार्टी सुप्रीमो श्री बाबूलाल मरांडी एवं वरीय उपाध्यक्ष व पूर्व मंत्री डॉ सबा अहमद सामील हुए एवं जनादेश समागम को सफल बनाने के लिए कार्यकर्ताओं में जोश भरा।उक्त बैठक में महानगर के सभी 13 मण्डल/प्रखंड एवं 53 वार्डों के प्रमुख कार्यकर्ता एवं पदाधिकारी एवं मंच-मोर्चा के अध्यक्ष सामील हुए। मौके पर उपस्थित श्री मरांडी ने सभी  मण्डल एवं वार्ड अध्यक्षों से बारी-बारी से संगठन की जानकारी ली एवं समागम में बूथ स्तर से कार्यकर्ताओं की उपस्थिति के लिए चर्चा किया।

जनादेश समागम को सफल बनाने को लेकर महानगर में चार स्तर पर कार्यक्रम चलाने का निर्णय लिया गया। 

1.पहले चरण में सभी मण्डलों में वृहत बैठक आहूत की जाएगी

2. दूसरे चरण में सभी 53 वार्डो में बैठक

3. तीसरे चरण में सभी वार्डों में पदयात्रा एवं जनजागरण

4. चौथे चरण में सभी मण्डलों में नुक्कड़ सभा

5. एवं पाचवें चरण में प्रचार वाहन से जन जागरण चलाकर समागम में आने के लिए लोगों से आह्वान किया जाएगा।

बैठक को संबोधित करते हुए पार्टी सुप्रीमो श्री बाबूलाल मरांडी ने कहा कि कार्यकर्ता गठबंधन की चिंता छोड़ चुनाव की तैयारी में लग जाएं। हम गठबंधन के विरोधी नही है, लेकिन लोकतंत्र में गठबंधन स्थायी व्यवस्था नही है। उन्होंने कहा कि 25 सितम्बर को होने वाले प्रभात तारा मैदान में पार्टी का जनादेश समागम से तय हो जायेगा कि राज्य की जनता किसके साथ खड़ी है। श्री मरांडी ने कहा कि प्रभात तारा मैदान, धुर्वा में देश के प्रधान मंत्री को छोड़कर किसी भी राजनीतिक दल ने राजनीतिक आयोजन की हिम्मत नही की, लेकिन झाविमो ने यह चुनौती स्वीकार किया है। इससे पहले भी पार्टी ने 2006 में परिवर्तन महारैली एवं 2009 में “कूटे महाधिवेशन” कर माइल स्टोन बनाया था और 25 सितम्बर का जनादेश समागम भी राज्य की राजनीति में मिल का पत्थर साबित होगा। उन्होंने कार्यक्रम को सफल बनाने को लेकर कार्यकर्ताओं से संसाधन जुटाने के लिए अन-धन संग्रह कार्यक्रम चलाकर जनता से सहयोग लेने का निर्देश दिया।

श्री मरांडी ने बंधू तिर्की की गिरफ्तारी पर सरकार एवं भाजपा को घेरते हुए कहा कि भाजपा एवं रघुवर सरकार चाहे झाविमो को तोड़ने के लिए जितनी ताकत लगा ले, राज्य की राजनीति में अब झाविमो को कोई भी ताकत नही रोक सकता। उन्होंने कहा कि मुझे एवं मेरी पार्टी को परेशान करने के लिए सरकार तरह तरह की हथकंडा अपना रही है। राज्य की जनता इसका जबाब विधानसभा चुनाव में देगी। भाजपा को सबसे ज्यादा चिंता झाविमो से है। भाजपा के लोगों को सपना में भी झाविमो ही आता है, यही कारण है कि भाजपा हमारे लोगों के पीछे पड़ी है। उन्होंने कहा कि झाविमो को राज्य की जनता अब दिलों में बसा चुकी है। अगर भाजपा के लोग जनता के दिलों में होते तो यहाँ के मुख्यमंत्री सिर्फ होर्डिंग एवं अखबारी विज्ञापनों में नही दिखते! राज्य में भ्रष्टाचार चरम पर है। बगैर पैसा के कोई भी कार्य जनता का नही हो रहा। अगर सही से जाँच हुई तो राज्य के मुख्यमंत्री जेल के सलाखें में नजर आएंगे। राज्य की जनता इसबार बदलाव का मूड बना चुकी है। रघुरर जी झारखंड में कितना भी राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री का कार्यक्रम करवा लें, इसबार जनता राज्य की राजनीति से मुक्त कर देगी।

उन्होंने कहा 25 सितम्बर का जनादेश समागम अभूतपूर्व एवं एतिहाशिक होगी।

बैठक को मंत्री डॉ सबा अहमद, केंद्रीय प्रवक्ता सुनीता सिंह,युवा मोर्चा के अध्यक्ष भूपेंद्र सिंह, सुचिता सिंह, जितेंद्र कुमार(रिंकू), अभिजीत दत्ता, मोइन अंसारी, नजीबुल्लाह खान, मंतोष सिंह, रेयाज खान,विनीता मुंडा, राम मनोज साहू, शिव संकर साहू,सतेंद्र वर्मा, अमित सिंह, नदीम इकबाल, दीपू सिन्हा ने भी सम्बोधित किया। इस अवसर पर मनोरंजन विश्वकर्मा, मन्नू चौधरी, जादूगर एस कुमार,राजेश तिर्की, सुरेस शर्मा,विनोद ठाकुर, प्रमोद यादव, समीर लिंडा, भीम शर्मा, शिव चरण मुंडा, पीयूष आनंद, संजय भगत, बिजय मुंडा, राकेश सिंह,गुड्डू तिर्की, अनुज कच्छप, मुकेश गाड़ी, निर्मल पाहन, स्वेता पांडेय, निर्मला देवी, ऋतु साहू, रामाधार यादव, बाबू भाई, अर्जुन मलिक, जगदीप नाग, राकेश चौहान, गगन साहू, संजय तिग्गा, संजीत चन्द्रवंशी, मो नसीम, शांति देवी, तनवीर आलम, इमरान कुरैशी, सुरेश कुमार, अभिनव सिंह,अभय सिंह, अभिजीत चटर्जी, अजय सिंह, प्रदिप कुमार, अमित कुमार, मुन्ना खलखो, मनीष तिवारी, सुजीत मुंडा, महेश महली सहित सैकड़ों प्रमुख कार्यकर्ता एवं पदाधिकारी सामील हुए

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *