जेडीयू ने जारी किया घोषणा पत्र,शराबबंदी,युवाओं को रोजगार सहित कई बातों का जिक्र

झारखण्ड में जनता दल यू ने गुरुवार को प्रदेश कार्यालय में पार्टी का चुनावी घोषण पत्र जारी किया.प्रदेश अध्यक्ष सालखन मुर्मू,प्रभारी अरुण कुमार सिंह, प्रवीन सिंह,बिहार सरकार के मंत्री नीरज कुमार,केन्द्रीय महासचिव श्रवण कुमार सहित कई नेताओं ने घोषणा पत्र का लोकार्पण किया. मौके पर प्रदेश अध्यक्ष सालखन मुर्मू ने कहा कि जेडीयू का घोषण पत्र नहीं संकल्प पत्र है.उन्होंने कहा कि विकास की बात सब करते हैं.लेकिन जनता दल यू न्याय के साथ विकास पर विश्वास करती है. बिहार की तर्ज पर झारखण्ड का विकास का हमने खाका तैयार किया है.यह घोषणा पत्र झारखण्ड की जनता के सपनों को सच करने वाला है. भाजपा का डबल इंजन का विकास पूंजीपतियों के लिए है.भाजपा और झामुमो इतने वर्षों तक जनता को झूठे सपने दिखाकर लुटते रही. लेकिन जनता दल यू झारखण्ड में विकास करना चाहती है.घोषणा पर में आर्थिक हल,युवाओं को रोजगार,आरक्षित रोजगार,महिलाओं को अधिकार.हर-घर नियमित बिजली,आदिवासी-मूलवासियों को प्राथमिकता,महिलाओं को बिहार की तर्ज पर नौकरी,आर्थिक रूप से पिछड़े सवर्णों को निर्धारित आरक्षण,सीएनटी-एसपीटी एक्ट में कोई छेड़-छाड़ नहीं,सभी पंचायत में एक उच्च विद्यालय सहित कई मुद्दे पर समाहित किया गया है. झारखण्ड में जल,जंगल और जमीन से लोगों का लगाव है. यहां आयुष के क्षेत्र में काफी संभावना है.लेकिन यहाँ पर आयुष चकित्सा मात्र 462 है ,जबकि बिहार में इससे तीन गुना है.इसके लिए कौन गुनाहगार है. वहीँ बिहार सरकार के मंत्री नीरज कुमार ने कहा कि हम घोषणा पर भरोसा नहीं करते हैं.हम संकल्प करते हैं. बिहार में जिस तरह से 2015 में पार्टी सात निश्चय पर लड़ी थी.और वह सात निश्चय हमने धरातल पर उतारने का काम किया है.उन्होंने कहा कि झारखण्ड की दशा और दिशा को बदलना चाहते हैं.इसलिए हमारी पार्टी ने झारखण्ड बदलाव का दस सूत्रों का जिक्र किया है. हमारा यह विषय है कि आखिर क्या कारण है कि झारखण्ड सवा तीन करोड़ की आबादी वाला प्रदेश आज भी बदहाल है.इसके लिए कौन गुनाहगार है. आज भी झारखण्ड उर्जा के क्षेत्र में आत्मनिर्भर नहीं हो पाई है. झारखण्ड प्राकृतिक प्रदेश है.पर्यटन के मामले में झारखण्ड बिहार से आगे रहने चाहिए लेकिन पीछे है. उन्होंने कहा कि राजनीत का एजेंडा सेवा है. पंचायत सरकार को बिहार में अधिकार दिया है। 28 पब्लिक सेक्टर यूनिट बंद है। 4 लाख रुपये स्कॉलरशिप बिहार में हमलोग देते हैं। 4 लाख का स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड दिया है। इसलिए हमलोग जो संकल्प लेते हैं. वह करते हैं। हम अपने कार्यक्रम की बुनियाद पर चुनाव लड़ रहे हैं। FacebookTwitterPinterestShare

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *