छठ घाट सजधज कर तैयार,अस्ताचलगामी भगवान भास्कर को अर्घ्य आज

बिहार-झारखण्ड का प्रमुख महापर्व छठ पूजा के तीसरे दिन शुक्रवार को अस्ताचलगामी भगवान भास्कर को श्रद्धालु अर्घ्य देंगे. इससे पहले राजधानी के कई छठ घाटों की साफ़- सफाई की गई है.नगर निगम सहित तमाम समाजिक संगठनों ने सफाई अभियान में बढ़-चढ़ कर भाग लिया है.छठ व्रतियों सहित लोगों ने फलों और आवश्यक पूजन सामग्रियों की खरीदारी की. इस बीच छठ घाटों को अंतिम रूप से साफ सफाई के बाद सजा दिया गया है. व्रतियों और भक्तों की सुविधा को लेकर एक दर्जन से अधिक छठ पूजा समितियां शहर और आस पास के इलाकों में सक्रिय हैं. इसके अलावा प्रशासन और पुलिस ने भी सुरक्षा व्यवस्था को लेकर पुख्ता इंतजाम किए हैं.

इससे पहले गुरुवार को  छठ व्रतियों ने खरना पूजन की विधि पूरी की. दोपहर बाद से ही छठ व्रती विभिन्न छठ घाटों और जलाशयों में स्नान व पूजन के लिए पहुंची थीं. शाम में विशेष पूजन के बाद छठ माता को प्रसाद अर्पित कर छठ व्रतियों ने खीर का प्रसाद ग्रहण किया.

हजारों की संख्या में छठ माता के भक्त छठ पूजन करने वाले रिश्तेदारों एवं पड़ोसियों के घर पहुंचे और प्रसाद ग्रहण किया. छठ पूजन करने वाले घरों और उसके आस पास भी विद्युत सज्जा देखने को मिली. हालांकि इन सबके बीच कोरोना के ख़ौफ़ से लोग बेफिक्र रहे.खरना के बाद छठ व्रतियों का 36 घंटे का कठिन उपवास शुरू हुआ. 20 नवंबर को छठ घाटों में पहुंचकर व्रती अस्ताचलगामी भगवान भास्कर को अर्घ्य देंगे. इसके बाद 21 नवंबर को उदीयमान सूर्य को अर्घ्य देने के बाद ही उनका व्रत पूरा होगा.

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *