गुमला में भीड़ लगा पी रहे थे शराब, ग्रामीणों ने लाठी-डंडे से की पिटाई

जिला मुख्यालय के पास तेलगांव पंचायत में लॉकडाउन के दौरान भीड़ लगाकर कच्ची शराब पी रहे युवकों की ग्रामीणों ने जमकर पिटाई कर दी। इस दौरान पांच लोग जख्मी हो गए। ग्रामीणों ने इनके खिलाफ थाना में लॉकडाउन को ताक पर रख मजमा लगाकर जुआ खिलवाने व शराब पीने का आवेदन दिया है। वहीं, घायलों द्वारा गांव के प्रभारी मुखिया बिनोद उरांव पर पुरानी रंजिश के तहत ग्रामीणों से पिटवाने का आरोप लगाया है। घटना रविवार शाम की है।

तेलगांव में लॉकडाउन के बाद रविवार को देर शाम पंचायत के मनाही के बावजूद कुछ ग्रामीण कच्ची शराब पीने व जुआ खेलने के लिए एक जगह बड़ी संख्या में एकत्रित हुए थे। तभी बड़ी संख्या में ग्रामीण वहां पहुंचे और लोगों को रोका। इस दौरान कुछ लोग वहां से भाग खड़े हुए। मगर कुछ लोग ग्रामीणों से उलझ गए। ग्रामीणों के साथ वे धक्का-मुक्की करने लगे। इसके बाद ग्रामीणों ने सबको पकड़ कर लाठी डंडे से उनकी जमकर पिटाई कर दी। इस पिटाई में जगमोहन लोहरा, पंचू सिंह, राय लोहरा, विजय बड़ाइक व लाल लोहरा घायल हो गए।इनमे सबसे ज्यादा चोट जगमोहन व पंचू को लगी है।

थाने में दिए गए आवेदन में ग्रामीणों ने कहा है कि रविवार को ग्राम पंचायत की बैठक हुई थी। यहां कोरोनावायरस के प्रसार के रोकथाम को लेकर गांव में किसी को घर से नही निकलने, बाहरी लोगों के गांव में आने पर रोक व किसी प्रकार का मजमा नहीं लगाने का निर्देश जारी किया गया था। मगर जगमोहन कच्ची शराब की दुकान लगवाकर जुआ खेलाने का काम कर रहा था। इसे रोकने पर जगमोहन ने बाहरी तत्वों के साथ मिलकर ग्रामीणों पर हमला किया। वहीं, घायल जगमोहन ने थाना में लिखित आवेदन देकर गांव के प्रभारी मुखिया बिनोद उरांव पर आपसी रंजिश में मारपीट करवाने का आरोप लगाया है। पुलिस मामले की छानबीन में जुट गई है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *