क्या है आरएसएस का गडकरी प्लान !

बार बार गडकरी को क्यों देनी पड़ रही सफाई

रविवार को जब चुनाव आयोग चुनाव की तारीखों की घोषणा कर रहा था. भाजपा के अंदरखाने कुछ पक रहा था तभी शायद केंद्रीय मंत्री और पूर्व भाजपा अध्यक्ष नितिन गडकरी को एकबार फिर साफ करना पड़ा कि वह प्रधानमंत्री पद की दौड़ में नहीं हैं. गडकरी ने जो सबसे गंभीर बात कही वो यह कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की उन्हें पीएम प्रत्याशी घोषित करने की कोई योजना नहीं है.

इससे पहले भी अपने कई चर्चित बयानों की वज़ह से गडकरी को सफाई देनी पड़ी थी. तब यह माना गया था कि वह पीएम मोदी और अमित शाह को लेकर असहज हैं. इसलिए इसबार आरएसएस के बेहद निकट समझे जानेवाले गडकरी ने यह बयान ऐसे समय में दिया है, जब यह अटकलें लगाई जा रही है कि अगर आगामी चुनाव में राजग को पूर्ण बहुमत नहीं मिला तो वह भाजपा की तरफ से प्रधानमंत्री पद के प्रत्याशी हो सकते हैं.

एक समाचार एजेंसी के साथ बात करते हुए गडकरी ने कहा, ‘मैंने कभी कोई जोड़-घटाव नहीं किया है, कभी लक्ष्य निर्धारित नहीं किया-न तो राजनीति में और न ही कार्य में. मैं तो रास्ते के साथ चलता हूं. रास्ता जिधर जाता है उस पर चलता जाता हूं. जो काम मिला करता गया. गडकरी ने कहा कि वह और उनकी पार्टी ‘मजबूती के साथ मोदी जी के साथ खड़ी है.

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *