काश! इतिहास से सबक लिया होता लालू ने

बेपर्दा हो रहे रिकॉर्ड ब्रेक घोटाले

लालू यादव चाहे कितना भी गाली दें प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी को ! पर हर दिन उनके रिकॉर्ड तोड़ घोटालों का सामने आना उन्हें सियासी तौर पर भी आखिरी सीमा की और ले जा रहा है | रेल मंत्री रहते रांची और पूरी के रेलवे के होटलों को जिस तरह आनन फानन में निजी लोगों को दिया गया, उसने तब भी सवाल उठाये थे | लेकिन तब की भ्रष्ट UPA सरकार में लालू की तूती बोलती थी और कोई लालू के खिलाफ बोल नहीं पाया | अब जाकर भ्रष्टाचार का यह जिन्न बोतल से बाहर आया है | ऐसे में लालू हमेशा की तरह अपने भ्रष्ट किस्सों का जवाब देने की बजाय मीडिया और प्रधानमंत्री पर अपना गुस्सा निकाल रहे हैं | बिहार के लोग इतने भी भोले नहीं हैं की लालू के इस ड्रामे को नहीं समझ रहे हैं !
लगता है चारा घोटाले में सजा पाकर भी लालू ने इतिहास से कोई सबक नहीं सीखा | भाजपा नेता सुशील मोदी के लगाये आरोपों के अनुसार लालू ने रघुनाथ झा जैसे कई नेताओं से उनकी जमीन लिखवा ली | ऐसे में राजद के नेता-कार्यकर्त्ता के भी होश उड़ गए होंगे |सामाजिक न्याय की मशाल जलाते-जलाते लालू ने राजद के सियासी कुनवे को ही वैचारिक तौर पर जलाने का काम किया | भ्रष्टाचार की कदली में आकंठ डूबे लालू प्रसाद ने अपने दोनों बेटे तेजस्वी और तेजप्रताप को भी उसी दलदल में धकेल दिया | बेटी मीसा भारती पहले ही परेशानी में हैं | ऐसे में लालू अपने बाद पार्टी में क्या छोड़ जायेंगे! दागी उत्तराधिकारियों की फौज |
बिहार में लालू जनाधार वाले नेता हैं | पटना की उनकी प्रस्तावित रैली के वक़्त सीबीआई का रेड बहुत से लोगों को राजनीतिक विद्वेष की कार्रवाई लग रही है | पर घोटाले के जो सच सामने आ रहे हैं, उसका क्या |
लालू के समर्थक जाति और धर्म निरपेक्षता के सवाल पर उन्हें अपना नायक मानते हैं | पर भ्रष्टाचार के रोज़ हो रहे खुलासे से लालू समर्थक भी असहज हैं | ऐसे में महा गठबंधन की गांठ तो अभी खुलती नहीं दिख रही है पर लालू और तेजस्वी के जेल जाने के बाद महा गठबंधन की सारी गांठ धीरे- धीरे खुल जाएँगी | देर- सबेर ये गांठ बिखरेगी | नीतीश को मज़बूरी में अपनी राह अलग करनी होगी | ऐसे में अगले 6 महीने में बिहार अगर नयी सरकार देख ले तो आप चौंकिएगा मत |

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *