कांग्रेस का यूपी में अलग लड़ना लगभग तय

वैसे तो राजनीति संभावनाओं का खेल है लेकिन यूपी से आ रहे संकेत इसी बात की ओर इशारा कर रहे हैं कि कांग्रेस इस प्रदेश में अकेले ही चुनाव लड़ेगी. सपा-बसपा गठबंधन द्वारा ज्यादा तवज्जो नहीं दिए जाने एके बाद शनिवार को पश्चिमी उत्तरप्रदेश के प्रभारी महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि हमने बार-बार कहा है कि हमारा मकसद एक ही है. केंद्र में संप्रग की सरकार बननी चाहिए. उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में कांग्रेस अपनी शक्ति के आधार पर और अपने दम पर ये चुनाव लड़ने जा रही है. उन्होंने कहा, ‘सपा और बसपा ने अपना निर्णय लिया है। उनका यह हक है कि वे अपना निर्णय लें। लेकिन कांग्रेस पार्टी सभी सीटों पर चुनाव लड़ेगी और जनता की ताकत पर जीतेगी.

                                                      
सिंधिया ने कहा, ‘हमने सदा कहा है कि संवाद और चर्चा जरूरी है, लेकिन यह संवाद और चर्चा दोनों तरफ से होनी चाहिए. वर्तमान परिस्थिति में कांग्रेस अपने दम पर चुनाव लड़ेगी। हमें अपनी पार्टी को उत्तर प्रदेश में बेहतर तरीके से स्थापित करना है. 

उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा, ‘ समान विचारधारा वाली पार्टियों को समान विचारधारा के तरीके से सोचना चाहिए. सपा और बसपा तथा हमारे रास्ते अलग हो सकते हैं लेकिन हमारा अंतिम लक्ष्य एक है.  कांग्रेस के लिए दो सीटें छोड़ने संबंधी अखिलेश यादव के बयान पर उन्होंने कहा, ‘हम भी उनके लिए दो-तीन सीटें छोड़ देंगे.  

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *