आजसू प्रमुख सुदेश महतो ने संथाल में मारी इंट्री,झामुमो और भाजपा पर कसा तंज

आजसू पार्टी के केंद्रीय अध्यक्ष सुदेश कुमार महतो ने कहा है कि शासन और सिस्टम को आम आदमी पर लाएंगे. इसी मकसद से उन्होंने संताल परगना की राजनीति में दखल देने निकले हैं. मेरे अलग होने के बाद बीजेपी 65 पार की गिनती भूल गई है. चाहे कांग्रेस हो या जेएमएम किसी पार्टी की सरकार इस बार बनने नहीं जा रही. इस बार जनता की और गांव की सरकार बनने वाली है. सभी दल वाले वोट मांगने निकले हैं और हम अपने परिवार से मिल रहे हैं.
आजसू प्रमुख ने आज संताल परगना में पार्टी उम्मीदवारों के समर्थन में पाकुड़, राजमहल और महेशपुर में चुनावी रैलियां की. श्री महतो ने कहा कि जेएमएम ने चालीस सालों से इस इलाके के सथ विश्वासघात किया है. वोट की राजनीति की है. जनादेश का उल्लंघन किया है. हम कर्म और वचन के पक्के हैं. वोटर को हमेशा परिवार की तरह देखा. इसलिए इस बार लड़ाई बड़ी की है. 
पाकुड़ में उन्होंने लोगों से कहा कि अकील अख्तर का कोई जोड़ नहीं, इन्हें जिताएं, हम राज्य का बड़ा नेता अकील भाई को बनाएंगे. अखील अख्तर ने हमेशा सेवा की राजनीति की है. कई मदरसे खोले हैं. सैंकड़ों चापालकल लगवाए हैं. सेवा भाव से काम करने वाले व्यक्ति को ही जनता पसंद करती है और मेरी राजनीति का मूल मंत्री भी सेवा ही है. 
श्री महतो ने कहा कि सभी दल और उनके नेता चुनाव के वक्त जनता से आमने- सामने होते हैं आजसू पार्टी और इसकी मुखिया होने के नाते हम पांच साल जनता के बीच मौजूद होते रहते हैं. अब तक पाकुड़ में किसी पार्टी की जीत होती रही. जबकि जनता हारती रही है. हम जनता को जिताने निकले हैं. उन्होंने कहा कि वोट और समुदाय विशेष आधारित राजनीति से जनता का नुकसान होता है. गांव का आदमी सबसे पहले वोट देता है. उसके वोट के साथ सपने और अरमान होते हैं. और वोट के बाद वही सपने अरमान टूटते हैं. पाकुड़ में अकील अख्तर की जीत जनता तय करे, वे अरमान और सपने साकार होंगे. 
श्री महतो ने कहा कि पाकुड़ और राजमहल में कहा कि स्थानीय लोग इस बात से कतई भयभीत नहीं नहीं रहें कि यहां एनआरसी लागू होगा. ये फैसला धरती पुत्रों की मर्जी के खिलाफ नहीं लाद सकते. पाकुड़ और राजमहल में पत्थर उद्योग को भी आबाद किया जाएगा. ताकि लोगों के लिए रोजी रोजगार के दरवाजे खुलें. पाकुड़ में ही बीड़ी निर्माण और कारोबार को गांव की सरकार जिंदी करेगी. यह इलाका दशकों से अभिशप्त रही है. 
राजमहल में सुदेश कुमार महतो ने कहा कि एमटी राजा के संघर्ष और ईमानदारी को हाशिये पर नहीं छोड़ा जा सकता. यहां की माटी और जरूरतों के लिए एमटी राजा ने लंबा संघर्ष किया है और जनता के दिलों में जगह बनाई है. झारखंड में इस बार कहीं का मॉडल नहीं चलेगा तथा थोपी हुई सरकार भी नहीं बनेगी. राजमहल, महेशपुर, पाकुड़ की जनता के आदेश का अनुपालन होगा. महेशपुर में उन्होंने कहा कि सुफल मरांडी ने गांवों, जंगलों, पहाड़ों में लंबा संघर्ष किया है. सुफल मरांडी जैसे लोगों को विधानसभा में आवाज बनने का मौका दें. हम इस बाचत की गारंटी लेते हैं कि संताल परगना में राजनीति को सेवा की अगली कतार में लाएंगे और मठाधीशों की मतलबी राजनीति पर लगाम लगाएंगे.

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *